main menu

Drop Down MenusCSS Drop Down MenuPure CSS Dropdown Menu

Wednesday, 25 May 2016

आखिर !!

बोलते थे खुद को, ये मोहब्बत न हमको होगा,
कच्ची उमर में जो होता है, वो अहसास अब ना होगा,
झूठे हो गए सारे वादे किये  थे हमने कभी खुद से,
पहली नजर पड़ी थी मेरी उसपे जबसे,
झुकी हुयी पलके, होठो पे हलकी सी मुस्कान,
बस एक झलक में निकल गयी थी मेरी जान,
मेरी हर एक धड़कन आज उसका है दीवाना,
आज मेरी है वो, जिसके पीछे था सारा ज़माना !

No comments :

Post a Comment