main menu

Drop Down MenusCSS Drop Down MenuPure CSS Dropdown Menu

Wednesday, 25 May 2016

जिंदगी Returns

मौत तो कबसे साथ खड़ी थी,
आज जिंदगी हमसे टकड़ा गयी है,

हम तो मायुश थे इस जनम से,
वजह जीने की पकड़ा गयी है,

देवी-परियों की बातें सुनी थी,

एक झलक हमको दिखला गयी है,
उनकी गलियों से होगा अब गुजरना,
ये मतलब हमको सिखला गयी है,

दिल है की नहीं, भूल ही गए थे,

आज धड़का तो याद आ गया है,
ख्वाबों में होगा अब उनसे मिलना,
जीने का स्वाद याद आ गया है,


एक झलक ही देखा था बस उनको,

मेरे दिल में वो घर कर गयी है,
मौत तो कबसे साथ खड़ी थी,
आज जिंदगी हमसे टकड़ा गयी है।

No comments :

Post a Comment